Culture Observed

दिवाली के दिन पूजा का शुभ मुहूर्त, महत्व, लाभ, ऐसे करें लक्ष्मी मां को प्रसन्न

दिवाली
दिवाली

दिवाली  का त्योहार यानि खुशियों का त्योहार चारों तरफ खुशियां, रोशनी. जो आपके जीवन में भी एक नई रोशनी लेकर आती है. ये त्योहार कार्तिक महीने की अमावस्या के दिन पूरे देश में बड़े ही धुम-धाम से मनाया जाता है. दीपावली के दिन मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है, आज के दिन विशेष पूजा करने से मां लक्ष्मी खुश होती हैं और धन की बारिश करती हैं. इस दिन दीपों से घर को रोशन किया जाता है. दीये का प्रकाश अपनी रोशनी की तरह आपके जीवन में भी सकारात्मक सोच, शक्ति और धन की चमक फैलाता है. इस त्योहार की भगवान श्रीराम से भी मान्यता जुड़ी हुई हैं. पुराणों में कहा गया है कि कार्तिक अमावस्या के दिन भगवान श्रीराम ने अयोध्या में वापसी की थी.

हिंदू मान्यताओं के मुताबिक भगवान श्रीराम 14 साल का वनवास काट कर अयोध्या वापस आए थे. वहीं अयोध्यावासियों ने घी के दीप जलाकर उनका स्वागत किया था. अमावस्या की काली रात में इन दीपों के चलते ही पूरे अयोध्या में रोशनी हो गई. इसलिए इसे दीपावली को प्रकाशोत्सव के नाम से भी जाना जाता है.  दिवाली के दिन मां लक्ष्मी के साथ-साथ मां सरस्वती और भगवान गणेश की भी पूजा की जाती है.

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त

दिवाली / लक्ष्‍मी पूजन की तारीख- 27 अक्‍टूबर 2019

अमावस्‍या तारीख प्रारंभ- 27 अक्‍टूबर 2019 को दोपहर 12 बजकर 23 मिनट से

अमावस्‍या तारीख खत्म – 28 अक्‍टूबर 2019 को सुबह 09 बजकर 08 मिनट तक

लक्ष्‍मी पूजा मुहुर्त-  27 अक्टूबर को शाम 06:42 से रात 08:11 बजे तक

प्रदोष काल- 17:36 से 20:11

वृषभ काल- 18:42 से 20:37

ऐसे करें मां लक्षमी को प्रसन्न

दिवाली के दिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के तरीके बहुत आसान हैं,  लेकिन अधिकतर लोगों को इसकी जानकारी नहीं होती है. वहीं मां लक्ष्मी को खुश करने के लिए शास्त्रों में कई तरह के उपाय बताए गए हैं, जिन्हें करके आसानी से मां की कृपा पाई जा सकती है.

– इस दिन महालक्ष्मी के महामंत्र ऊँ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद् श्रीं ह्रीं श्रीं ऊँ महालक्ष्मयै नम: का कमलगट्टे की माला से कम से कम 108 बार जाप करें. ऐसा करने से आपके ऊपर मां लक्ष्‍मी की कृपा बनी रहती है.

-दीपावली के दिन मां लक्ष्मी की पूजा के बाद घर के सभी कमरों में शंख और घंटी बजानी चाहिए. इससे घर की सारी नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाती है.

– धन संबंधी सभी परेशानियां दूर करने के लिए दिवाली पर महालक्ष्मी के पूजन में पीली कौड़ियां रखें.

-दिवाली वाले दिन शिवलिंग पर अक्षत यानी चावल चढ़ाएं. ध्यान रहे सभी चावल पूर्ण होने चाहिए.

-दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजन में हल्दी की गांठ जरूर रखें और पूजा के बाद इसे अपनी तिजोरी में रखें.

-इस दिन पीपल के पेड़ में जल जरूर दें. इससे शनि के दोष और कालसर्प दोष खत्म हो जाता है.

मां लक्ष्मी का जन्मदिन

कुछ धार्मिक कथाओं के अनुसार कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या को ही समुद्र मंथन से मां लक्ष्मी का आगमन हुआ था. एक अन्य मान्यता के मुताबिक इस दिन मां लक्ष्मी का जन्मदिन होता है. कुछ स्थानों पर इस दिन को देवी लक्ष्मी के जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता है.

About the author

Tarun Phore

न मैं आस्तिक... न मैं नास्तिक...बातें करूं मैं Sarcastic...अपनी अलग दुनिया में मस्त... सवाल पूछना अच्छा लगता है, इसलिए नहीं पत्रकार हूं...इसलिए क्योंकि सवाल तुम्हें भेड़चाल से अलग बनाते है...तभी मैं हर मुद्दे पर बेबाक तरीके से तर्क रखता हूं...बाकि जजमेंटल बिल्कुल नहीं हूं...सोच को दबाता नहीं बल्कि उठाता हूं.

Follow

Advertisement

Log in

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy