Gathered Tech

फेसबुक के पास है आपकी सारी चैट और कॉल की रिकार्डिंग्स!

अगर आप फेसबुक मैसेंजर का इस्तेमाल करते हैं, तो ये खबर आप के लिए बेहद जरूरी है. फेसबुक अपने मैसेंजर पर मौजूद ऑडियो क्लिप को सुनने और ट्रांसक्रिप्ट करने के लिए थर्ड-पार्टी कॉन्ट्रैक्टर्स को भर्ती कर रही थी. लेकिन ब्लूमबर्ग पर छपी ख़बर के अनुसार एफबी का दावा है कि उसने ऑडियो क्लिप्स की इंसानों के जरिए की गई समीक्षा को एक हफ्ते पहले ही रोक दिया है. कांट्रैक्टर्स को जानकारी नहीं होती है कि उन ऑडियो को कहा रिकार्ड किया गया और उसे किस प्रकार प्राप्त किया गया है.

वहीं गूगल, एप्पल और अमेज़न के बाद अब फेसबुक लेटेस्ट टेक दिग्गज है, जो अपने मैसेंजर ऐप पर की गई आपकी बात को सुनने और उसका अनुलेखन करने के लिए थर्ड-पार्टी कांटैक्टर्स को भुगतान कर रही थी.

Mark Zuckerberg

वर्ष 2015 से ही फेसबुक मैसेंजर ने वीडियो क्लिप्स की टेक्टस में अनुलेखन करने के फीचर की पेशकश कर रही थी, लेकिन बाईडिफाल्ट ये बंद होता है. रिपोर्ट में बताया गया कि फेसबुक ने कहा कि प्रभावित यूजर्स ने अपने मैसेंजर सेटिंग्स में अपने वॉयस चैट के अनुलेखन को मंजूरी देने का ऑप्शन चुना था. जब ऐसी रिपोर्टें सामने आई कि ये कंपनियां यूजर्स की आवाज रिकार्डिग्स थर्ड पार्टी कांट्रैक्टर्स को सुना रही है, तो एप्पल, गूगल और अमेजन ने यूज़र के ऑडियो रिकार्डिग्स को इंसानों के जरिए की जाने वाली समीक्षा को रोक दिया और विवादों का सामना करने के बाद गूगल और एप्पल दोनों ने ही यूजर्स की बातचीत की जासूसी बंद कर दी.

About the author

Tarun Phore

न मैं आस्तिक... न मैं नास्तिक...बातें करूं मैं Sarcastic...अपनी अलग दुनिया में मस्त... सवाल पूछना अच्छा लगता है, इसलिए नहीं पत्रकार हूं...इसलिए क्योंकि सवाल तुम्हें भेड़चाल से अलग बनाते है...तभी मैं हर मुद्दे पर बेबाक तरीके से तर्क रखता हूं...बाकि जजमेंटल बिल्कुल नहीं हूं...सोच को पनपने का मौका देता हूं..

Follow

Hyderabad
79°
haze
humidity: 65%
wind: 5mph E
H 75 • L 72
83°
Fri
84°
Sat
85°
Sun
84°
Mon
Weather from OpenWeatherMap

Advertisement