Gathered Political

कश्मीर पर राहुल ने दिया मोदी का साथ कहा- पाक फैला रहा है हिंसा,ये हमारा आतंरिक मामला

Rahul Gandhi
Rahul Gandhi

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद से ही कांग्रेस मोदी सरकार का विरोध कर रही थी. लेकिन कांग्रेस अब डैमेज कंट्रोल में जुट गई है. कश्मीर दौरे को लेकर हुई जबरदस्त आलोचना के बाद पार्टी अब सतर्क हो गई है और सरकार के कदमों को सपॉर्ट कर रही है.

राहुल गांधी ने ट्वीट के जरिए कहा है कि कश्मीर भारत का आंतरिक मसला है और पाक या फिर किसी अन्य देश को इस देश को इस मामले में हस्तक्षेप करने नहीं दिया जाएगा. राहुल गांधी ने कहा, ”मैं कई मसलों पर सरकार से असहमत हूं, लेकिन ये साफ कर देना चाहता हूं कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है और इसमें पाकिस्तान या फिर किसी अन्य देश को हस्तक्षेप करने नहीं दिया जाएगा”.

कश्मीर में हिंसा के लिए पाक को जिम्मेदार ठहराते हुए राहुल गांधी ने अपने एक अन्य ट्वीट में कहा, ”जम्मू-कश्मीर में हिंसा हो रही है. ये हिंसा इसलिए हो रही है क्योंकि पाक की ओर से इसे भड़काया और समर्थन किया जा रहा है, जिसकी पहचान दुनियाभर में आंतकवाद को बढ़ावा देने वाले देश की रही है.

दूसरी ओर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला कहा, ”हमें जानकारी मिली है कि पाक UNO में J&K  मुद्दे पर अपने झूठ को सच साबित करने के लिए राहुल गांधी का नाम ले रहा है. वहीं पाक राहुल के नाम पर गलत संदेश फैला रहा है. इसी कारण राहुल ने साफ कर दिया है कि जन्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत के अभिन्न अंग है और हमेशा रहेंगे.”

बतादें कि कश्मीर दौरे से लौटाए गए राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोला था. उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि उन्हें उस बर्बरता का अहसास हुआ जिसको कश्मीरी झेल रहे हैं. राहुल के इस बयान का पाक ने इस्तेमाल किया. उनके ट्वीट को वहां की न्यूज वेबसाइट प्रमुखता से दिखा रहे थे. वहीं पाक के मंत्री तक राहुल को इजाजत न मिलने को मुद्दा बना रहे हैं. कश्मीर में हालात को लेकर पाक का मीडिया और इमरान सरकार के मंत्री फर्जी खबरों के आधार पर दुष्प्रचार कर रहे हैं. राहुल गांधी 12 विपक्षी दलों के नेताओं के प्रतिनिधिमंडल के साथ श्रीनगर गए थे. जहां उन्हें हवाईअड्डा पर उतरते ही रोक लिया गया था, और वापस दिल्ली भेज दिया गया था.

About the author

Tarun Phore

न मैं आस्तिक... न मैं नास्तिक...बातें करूं मैं Sarcastic...अपनी अलग दुनिया में मस्त... सवाल पूछना अच्छा लगता है, इसलिए नहीं पत्रकार हूं...इसलिए क्योंकि सवाल तुम्हें भेड़चाल से अलग बनाते है...तभी मैं हर मुद्दे पर बेबाक तरीके से तर्क रखता हूं...बाकि जजमेंटल बिल्कुल नहीं हूं...सोच को दबाता नहीं बल्कि उठाता हूं.

Follow

Advertisement

Log in

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy