Gathered Political

370 पर बौखलाया पाकिस्तान-आतंकवाद पर अमेरिका की पाक को चेतावनी

pak-amrica
pak-amrica

जम्मू-कश्मीर में अनुष्छेद 370 और 35-ए के खात्मे के बाद पाकिस्तान सरकारी की बौखलाहट सामने आ रही है. कश्मीर पर किए गए भारत के एक्शन को पाकिस्तान विश्व स्तर पर उठाना चाहता है. पाक के संसद से लेकर पूरे मुल्क में कश्मीर पर भारत के रुख से बेचैनी है. ऐसे में पूरी दुनिया से पाकिस्तान मदद की गुहार लगा रहा है. लेकिन कोई भी देश खुलकर साथ नहीं आ रहा हैं. यहां तक कि पाकिस्तान का सबसे करीबी दोस्त चीन ने भी इस मामले में पाक से दूरी बना रखी है. वहीं इस मुद्दे पर भारत का रुख साफ है कि कश्मीर हमारा आंतरिक मामला है, जिसके संबंध में कानून बनाने का अधिकार भारत सरकार के पास है.

इसी के चलते अमेरिका ने एक बार फिर से पाकिस्तान को आतंकवाद के मुद्दे पर कड़ी चेतावनी दी है. जानकारी के मुताबिक अमेरिका ने पाक से कहा है कि वो भारत के खिलाफ आतंकवाद पर लगाम लगाए वरना इसके लिए गंभीर नतीजे होंगे. अमेरिका ने पाकिस्तान से जिहादी नेता राउफ अज़गर और लश्कर के नेतओं पर भी लगाम लगाने के लिए कहा है.

सूत्रों के मुताबिक, अमेरिका ने पाकस्तान को ब्लैकलिस्ट करने की भी धमकी दी है. अमेरिका ने कहा है कि अगर पाकिस्तान आतंकी संगठनों को समर्थन देना बंद नहीं करेगा, तो फिर उसे फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जाएगा.

बता दें कि FTAF मनी लॉन्ड्रिंग के खिलाफ काम करने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था है. पाकिस्तान जून 2018 से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आंतकी फंडिग पर नजर रखने वाली संस्था एफएटीएफ की ग्रे सूची में है. वहीं इस साल एफएटीएफ ने जून में कहा था कि पाकिस्तान मनी लॉन्ड्रिंग के सहारे आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है.

अमेरिका के हाउस फॉरेन अफेयर्स कमेटी के चेयरमैन बॉब मेनेंडेज की ओर से ये बयान जारी किया है. अमेरिका ने भारत से अपील की है कि जम्मू-कश्मीर में भारत अपने नागरिकों के अधिकारों की रक्षा करें. क्योंकि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है.

पाकिस्तान की बौखलाहट से भारत ने चुप्पी साधी है. भारत ने कश्मीर को मुद्दा मानने से हमेशा मना किया है. ऐसे में भारत ने पूरी दुनिया को संदेश दिया है कि कश्मीर पर लिया गया हर फैसला हमारा आतंरिक मामला है, जिसमें दुनिया दखल न दें.

About the author

Tarun Phore

न मैं आस्तिक... न मैं नास्तिक...बातें करूं मैं Sarcastic...अपनी अलग दुनिया में मस्त... सवाल पूछना अच्छा लगता है, इसलिए नहीं पत्रकार हूं...इसलिए क्योंकि सवाल तुम्हें भेड़चाल से अलग बनाते है...तभी मैं हर मुद्दे पर बेबाक तरीके से तर्क रखता हूं...बाकि जजमेंटल बिल्कुल नहीं हूं...सोच को दबाता नहीं बल्कि उठाता हूं.

Follow

Advertisement