Gathered Political

बैन के बावजूद जम्मू-कश्मीर में चल रहा था गिलानी का इंटरनेट ? दो BSNL अधिकारी सस्पेंड

syed ali shah geelani
syed ali shah geelani

जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाए जाने के बाद घाटी में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा 144 लागू की गई थी. इसके साथ ही अफवाह से बचने के लिए इंटरनेट और लैंडलाइन फोन सेवाओं को बंद कर दिया था. सरकार की इन तमाम कोशिशों के बावजूद एक बड़ी लापरवाही सामने आई है.

जानकारी के मुताबिक, रोक के बावजूद अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के घर पर इंटरनेट  चल रहा था. वहीं ट्वीट के सामने आने के बाद BSNL के दो अधिकारियों पर गाज गिरी है. जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद सरकार ने एहतियात के तौर पर घाटी में इंटरनेट और फोन सेवा बंद पर पाबंदी लगा दी थी. बतादें कि इस सुविधा पर 4 अगस्त को रोक लगी थी. लेकिन अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के पास 8 दिनों तक लैंडलाइन और इंटरनेट सेवा चालू थी. जिसके बाद अधिकारियों को ये भी पता नहीं चल सका कि गिलानी कश्मीर में इंटरनेट एक्सेस कर रहे हैं या नहीं, उन्होंने अपने अकाउंट से ट्वीट किया था.

मामला सामने आते ही इस बात की जांच शुरू कर दी गई है कि आखिर गिलानी इंटरनेट और लैंडलाइन सुविधा पाने में कैसे सफल हुए. बीएसएनएल ने इस मामले में दो अधिकारियों पर एक्शन लिया है. साथ ही मामले का पता चलते ही गिलानी की सर्विस बंद कर दी गई थी.

अलगाववादी नेता गिलानी हमेशा से ही भड़काऊ  या भारत विरोधी पोस्ट करते रहे हैं. गिलानी को लेकर लोगों में इस कदर गुस्सा देखा गया है कि कुछ लोगों ने तो पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से गिलानी को पाक भेजने की मांग की है.

फिलहाल घाटी में फोन सेवाएं धीरे-धीरे बहाल हो रही हैं. यहां पर स्कूलों को खोला गया है और धारा 144 में ढील दी गई है. ऐसे में एक बार फिर सुरक्षाबलों के लिए शांति माहौल बनाने की चुनौती है.

Follow

Hyderabad
75°
light rain
humidity: 94%
wind: 5mph SSW
H 73 • L 71
83°
Fri
81°
Sat
85°
Sun
85°
Mon
Weather from OpenWeatherMap