International Observed

आखिर क्यों केन्या की संसद ने महिला सांसद को बाहर निकाला ?

Kenya
Kenya

केन्या की संसद में बुधवार को महिला सांसद जुलैखा हसन को सिर्फ इसलिए बाहर निकाल दिया गया, क्योंकि वे अपने 5 महीने के बच्चे को संसद में लेकर आई थी. बच्चे की केयरटेकर आई नहीं थी, इसलिए उन्होंने बच्चे को साथ ले जाना सही समझा.

वहीं चेंबर में पहुंचते ही स्पीकर ओमुलेले हसन ने जुलैखा को बाहर जाने को कहा, साथ ही उन्होंने कहा कि वे बच्चे के बिना वापस आ सकती हैं. कुछ और सांसदों ने भी जुलैखा पर चिल्लाना शुरू कर दिया. संसद के नियमों के मुताबिक केन्या की संसद में किसी भी अजनबी को प्रवेश की इजाजत नहीं है. चाहे वो कोई बच्चा ही क्यों न हो. कुछ सांसद हसन के समर्थन में आ गए तो कुछ हसन के विरोध में खड़े हो गए.

लेकिन लंबी बहस के बाद पुरुष सांसदों ने सदन में बच्चे को लाने के फैसले को शर्मनाक बताया. इसके बाद महिला सांसदों का एक समूह जुलैखा के समर्थन में खड़ा हो गया. उन्होंने तर्क दिया कि दुनिया की कई बड़ी नेता बच्चों को साथ लेकर आ रही हैं, तो केन्या में ये क्यों नहीं हो सकता. संसद की दूसरी महिला सांसद, इस फैसले के खिलाफ हसन का साथ देते हुए सदन से वॉक आउट कर निकल गईं.

मीडिया से बात करते हुए हसन ने कहा, अगर संसद को व्यवस्था में और महिलाओं को लाना है तो परिवार के प्रति अनुकूल माहौल बनाना होगा. मैंने पूरी कोशिश की कि मैं बच्चे को लेकर संसद में ना जाऊं. लेकिन मेरे घर पर कोई दिक्कत हो गई थी. जिसके चलते मुझे बच्चे को लाना पड़ा. मेरे पास दूसरा कोई रास्ता नहीं था.

इसी विवाद पर डिप्टी स्पीकर मोसेस चेबोई ने एक बयान जारी किया. बयान के मुताबिक संसद में आने वाली महिला सांसदों को बच्चे लाने के लिए सुविधा है, लेकिन उन्हें अपने बच्चो की देखभाल करने के लिए दाई को साथ लेकर आना होगा.

Follow