Gathered Political

अब बनेगी महाराष्ट्र में सरकार ? शिवसेना का होगा सीएम, ये होगा फॉर्मूला

सरकार
सरकार

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन के बीच सरकार बनाने के का रास्ता साफ होता दिख रहा है. नई सरकार के गठन पर जो काले बादल छाए हुए थे,  अब वे छंटते हुए नज़र आ रहे हैं. शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के बीच में कॉमन मिनिमम प्रोग्राम (CMP) पर सहमति बनती दिख रही है. सूत्रों के मुताबिक, तीनों दलों के बीच जो समझौता हुआ है, उसके मुताबिक महाराष्ट्र में पांच साल तक शिवसेना का ही मुख्यमंत्री रहेगा. वहीं, कांग्रेस और एनसीपी के खाते में एक-एक उपमुख्यमंत्री का पद आएगा. एनसीपी को 14 और कांग्रेस को 12 मंत्री पद दिए जाएंगे. खुद शिवसेना के खाते में 14 मंत्री पद आएंगे.

नवाब मलिका का बयान

NCP नेता नवाब मलिक ने कहा, ‘…एक सवाल बार-बार पूछा जा रहा है कि शिवसेना का सीएम होगा क्या ?सीएम पद को लेकर बीजेपी और शिवसेना में विवाद हुआ, तो जाहिर सी बात मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा. शिवसेना को अपमानित किया गया है,  हमारी जिम्मेदारी बनती है कि उनका स्वाभिमान और सम्मान बनाए रखना, इसपर हमारी किसी प्रकार की कोई आपत्ति नहीं है.

संजय राउत ने कहा

दूसरी ओर शिवसेना नेता संजय राउत ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस बात पर मुहर लगाई थी. राउत का कहना था कि राज्य के हित के लिए तीनों पार्टियां कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर साथ आ रही हैं, जिसमें विकास-किसान-सूखा आदि मसला अहम होगा.

इन मुद्दों पर सहमति जरूरी

लेकिन आपको बतादें कि अभी भी कुछ ऐसे मसले हैं जिनपर तीनों पार्टियों को एक मंच पर आना बाकी है. इनमें शिवसेना की तरफ से लगातार सावरकर को भारत रत्न देने की मांग है, तो वहीं कांग्रेस-एनसीपी की ओर से 5 फीसदी मुस्लिम आरक्षण की मांग है.

इन मसलों पर अभी भी तीनों पार्टियों में बातचीत जारी है. अभी ये साफ नहीं हुआ है कि सरकार गठन को लेकर पार्टियों की ओर से सार्वजनिक तौर पर ऐलान कब किया जाएगा.

बतादें कि राज्य मेे अभी सरकार न बनाने के चलते राष्ट्रपति शासन लगा हुआ है.

About the author

Tarun Phore

न मैं आस्तिक... न मैं नास्तिक...बातें करूं मैं Sarcastic...अपनी अलग दुनिया में मस्त... सवाल पूछना अच्छा लगता है, इसलिए नहीं पत्रकार हूं...इसलिए क्योंकि सवाल तुम्हें भेड़चाल से अलग बनाते है...तभी मैं हर मुद्दे पर बेबाक तरीके से तर्क रखता हूं...बाकि जजमेंटल बिल्कुल नहीं हूं...सोच को दबाता नहीं बल्कि उठाता हूं.

Follow

Advertisement

Log in

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy